अब कम खर्च में और हर मौसम में सूर्य की ऊष्मा से बनेगी बिजली

  वाशिंगटन। वैज्ञानिकों ने एक नया पदार्थ तैयार किया है जिसकी मदद से बहुत ही कम लागत में सूर्य की ऊष्मा से बिजली बनाई जा सकती है। इसकी मदद से रात में या बादल होने पर भी सौर ऊर्जा उत्पन्न की जा सकेगी। बैटरी के जरिये ऊर्जा संरक्षित करने के मुकाबले सौर ऊर्जा को ऊष्मा के रूप में संरक्षित करना ज्यादा किफायती है। अमेरिका की पड्यू यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं के सामने सूर्य की ऊष्मा से कम खर्च में बिजली बनाने की चुनौती थी। इस प्रक्रिया में ग्रीन हाउस गैसों का उत्सर्जन ना हो, इसका जिर्कोनियम कार्बाइड और टंगस्टन की मदद से ताप विनियामक बनाकर दोनों ही समस्याओं को सुलझा लिया। इनसे बनाई गई प्लेट वर्तमान में ख्याल भी रखा जाननेमिक मौजूद ताप विनियामक से ज्यादा ताप और दबाव सह सकती हैं। वैज्ञानिकों का कहना है कि अब इस तकनीक से ईंधन की जगह नवीकरणीय ऊर्जा से बिजली बनाई जाएगी। फलस्वरूप, बिजली संयंत्रों से निकलने वाली ग्रीन हाउस गैसों में भी कमी आएगी।