अनिल अंबानी की कंपनियों से बकाया वसूलने को कोर्ट जाने वाली 24 कंपनियों में Paytm का नाम भी शामिल

 नई दिल्ली। पेटीएम की मूल कंपनी वन 97  कम्युनिकेशंस समेत 24 कंपनियों ने अपने बकाया को वसूलने के लिए अनिल अंबानी की  कंपनी रिलायंस कम्युनिकेशंस और रिलायंस । टेलीकॉम के खिलाफ नेशनल कंपनी लॉ ट्रिब्यूनल (एनसीएलटी) में अपील की है। एक मीडिया रिपोर्ट के हवाले से यह जानकारी सामने आई है। कोर्ट का दरवाजा खटखटाने वाली इन 24 कंपनियों में से 11 के विवाद का या तो निपटान हो चुका है या फिर वो निपटान के विभिन्न चरणों में हैं, वहीं 13 कर्जदाताओं की ओर से अभी तक रेजोल्यूशन प्रस्तावित नहीं किया गया है। लेनदारों ने दिवालियापन और दिवालियापन संहिता (आईबीसी) की धारा 9 के तहत अनिल अंबानी फर्मों के खिलाफ (आरकॉम) को स्वीडन की कंपनी एरिक्सन का बकाया चुकाने के लिए 15 दिसंबर तक का समय दिया है। Paytm का नाम मामला एनसीएलटी में उठाया है। इन मामलों में कुछ लाखों से करोड़ों तक का बकाया बाकी है। । इन कंपनियों में वन 97 कम्युनिकेशंस, । लॉजिस्टिक फर्म गेटी लिमिटेड, एसेंड टेलिकॉम इन्फ्रास्ट्रक्वर प्राइवेट लिमिटेड, बैंगलोर । इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड, हेंडाइगो टेक्नोलॉजी प्राइवेट लिमिटेड, कम्युनिकेशन्स फर्म लक्ष्य मीडिया लिमिटेड, वेलूप एडवर्टाइजिंग प्राइवेट लिमिटेड, इवॉल्व डिजिटल सॉल्यूशनस् प्राइवेट लिमिटेड, इनहँस सॉफ्टवेयर सॉल्यूशन प्राइवेट लिमिटेड, सिस्कॉम कॉरपोरेशन लिमिटेड, एक्सपोर्टसॉफ्ट टेक्नोलॉजीज, नव्या इंडस्ट्रीज प्राइवेट लिमिटेड और अभिटेक एनर्गाइकॉन लिमिटेड शामिल है। गौरतलब है कि आर कॉम को हाल ही में एरिक्शन को अपने बकाया भुगतान के लिए डेडलाइन में विस्तार मिला है। सुप्रीम कोर्ट ने अनिल अंबानी की रिलायंस कम्युनिकेशंस (आरकॉम) को स्वीडन की कंपनी एरिक्सन का बकाया चकाने के लिए 15 दिसंबर तक का समय दिया है।