अनुप्रिया पटेल के साथ अपना दल के कार्यकर्ता एकता ट्रेन यात्रा से गुजरात रवाना

वाराणसी। केंद्रीय मंत्री अनुप्रिया पटेल के साथ पूर्वांचल के अपना दल के हजारों कार्यकर्ता आज वाराणसी से एकता ट्रेन में गुजरात रवाना हो गए हैं। यह सभी 31 अक्टूबर को गुजरात में सरदार सरोवर बांध के सामने लोकार्पित होने वाले सरदार वल्लभ भाई पटेल के स्टैच्यू के समारोह में शामिल होंगे। केंद्रीय मंत्री अनुप्रिया पटेल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी के कैंट रेलवे स्टेशन से एकता ट्रेन को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। स्टैच्यू ऑफ यूनिटी का अनावरण 31 अक्टूबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करेंगे। वाराणसी से रवाना होकर एकता ट्रेन चुनार, अनुप्रिया पटेल के संसदीय क्षेत्र मीरजापुर के साथ इलाहाबाद, प्रतापगढ़, रायबरेली, लखनऊ, कानपुर, पुखरायां, उरई, झांसी होते हुए गुजरात के सरदार सरोवर बांध जाएगी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 31 अक्टूबर को गुजरात के सरदार सरोवर बांध के पास अखण्ड भारत के निर्माता भारत रत्न सरदार बल्लभ भाई पटेल की 182 मीटर ऊंची प्रतिमा स्टैच्यू ऑफ यूनिटी% का अनावरण करेंगे। इस कार्यक्रम में कार्यकर्ता एकता उत्तर प्रदेश के किसानों, महिलाओं, युवाओं के शामिल होने के लिए डॉ. सोनेलाल पटेल फाउंडेशन की तरफ से एक ट्रेन बुक कराई गई है। एकता ट्रेन यात्रा के नाम से यह ट्रेन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी से आज रवाना हो गई। इस ट्रेन को केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्यमंत्री अनुप्रिया पटेल और उत्तर प्रदेश के विधि न्याय, सूचना, खेल एवं युवा कल्याण राज्यमंत्री डॉ.नीलकण्ठ तिवारी ने हरी झंडी दिखाकर गजरात के सरदार सरोवर बांध के लिए रवाना किया। ट्रेन में अनुप्रिया पटेल भी सवार हैं। सरदार बल्लभ भाई पटेल की जयंती को अपना दल (एस) ने ऐतिहासिक बनाने की तैयारी है। डॉ.सोनेलाल पटेल फाउंडेशन ने एकता ट्रेन यात्रा का फैसला किया। इस एकता ट्रेन यात्रा के जरिए उत्तर प्रदेश के गांवों को इस कार्यक्रम से सीधे जोड़ने की पहल की जा रही है। इस ट्रेन में उत्तर प्रदेश के सामाजिक कार्यकर्ता के साथ ही किसान, युवा व महिलाओं को सरदार सरोवर के स्टेच्यू फॉर यूनिटी के अनावरण एकता ट्रेन यात्रा से गुजरात कार्यक्रम में ले जाया जा रहा है। यह ट्रेन वाराणसी से चुनार, मिर्जापुर, इलाहाबाद, प्रतापगढ़, रायबरेली, लखनऊ, कानपुर, पुखरायां, उरई, झांसी होते हुए गुजरात स्थित सरदार सरोवर बांध जाएगी।