डाटा चोरी की घटना के बाद पहली बार बोले पेटीएम फाउंडर, कहा- सोनिया पर था भरोसा

नई दिल्ली। पेटीएम के फाउंडर और सीईओ विजय शेखर शर्मा ने डाटा चोरी के मामले पर अपनी चुप्पी तोड़ी है। उन्होंने कहा कि मैं हैरान हूं और सच जानना चाहता हूं। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, उन्होंने कहा, मैंने हमेशा सोनिया धवन पर भरोसा किया है। यह भी संभव है कि उसका इस्तेमाल किया गया हो। पुलिस जांच में सच सामने आ जाएगा। पेटीएम के दो कर्मचारी, देवेंद्र कुमार और विजय शेखर शर्मा की सेक्रेटरी सोनिया धवन और सोनिया के पति रुपक जैन को विजय शर्मा को ब्लैकमेल और फिरौती मांगने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। इन्होंने विजय शर्मा को फिरौती नहीं देने पर पर्सनल डाटा लीक करने की धमकी दी थी। इस मामले में चौथा अभियुक्त अभी तक फरार है। विजय शर्मा ने कहा कि हम जांच में सहयोग कर रहे हैं और सच सामने आ जाएगा। हम सोनिया के साथ खड़े हैं और मैंने बात कर जांच में मदद मांगी है। विजय शर्मा ने बताया कि उनकी सोनिया से घर खरीदने के बारे में बात हुई थी, लेकिन सोनिया ने पैसे के लिए नहीं पूछा था। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, सोनिया 5 करोड़ रुपये का घर खरीदना चाहती थी। वहीं सोनिया के वकीलों का कहना है कि सोनिया को ईएसओपी बेचने के लिए मजबूर किया जा रहा था। साथ ही विजय शर्मा के करीबी कुछ लोग उसे कंपनी से बाहर करना एयरवेज ने अपने 20 कर्मचारियों चाहते हैं। इस पर विजय शर्मा ने कहा कि ईएसओपी बेचना या खरीदना उसके मालिक का विशेषाधिकार है। बता दें कि सोनिया पिछले 8 सालों से पेटीएम से जुड़ी थी। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, सोनिया ने विजय शर्मा को फिरौती के पैसे देने के लिए कहा था और फिरौती मांगने वालों के पकड़ने में उनकी मदद करने की बात कही थी।