दिल्ली के थे पायलट भव्य सुनेजा, दिवाली पर आना था घर

नई दिल्ली। इंडोनेशिया प्लेन क्रेश में मारे गए पायलट भव्य सुनेजा दिल्ली के रहने वाले थे। वह दिल्ली के मयूर विहार पॉकेट चार में परिवार के साथ रहते थे। वह दिवाली पर घर आने वाले थे। इससे पहले ही ये दुखद समाचार आ गया। इंडोनेशिया की राजधानी जकार्ता से पंगकल पिनांग के लिए जा रही लॉयन एयर फ्लाइट छुञ्ज610 टेक ऑफ करने के 13 मिनट बाद क्रैश हो गई है। चैनल न्यूज एशिया के अनुसार प्लेन में क्रू मेंबर और यात्रियों को मिलाकर 189 लोग सवार थे। सभी के मारे जाने की आशंका है। इंडोनेशिया के अधिकारियों ने राहत और बचाव के लिए। ऑपरेशन शुरू कर दिया है। हालांकि, मृतकों के आंकड़े की पुष्टि नहीं हो पाई है। इस फ्लाइट । को दिल्ली निवासी भव्य सुनेजा उड़ा रहे थे। हादसे की सूचना मिलते ही दिल्ली स्थित भव्य के घर के बाहर मीडिया वालों का जमावड़ा लग गया है। हालांकि । परिजन अभी मीडिया को कोई जानकारी नहीं दे रहे हैं। परिवार की तरफ से फिलहाल किसी ने मीडिया से बात नहीं की है। भव्य सुनेजा के पड़ोसियों ने बताया कि वह छुट्टियां लेकर 5 नवम्बर को अपने घर आने वाले थे। उनकी पत्नी गरिमा सेठी एक समाचार पत्र में कार्यरत हैं। भव्य के पड़ोस  में रहने वाले एनटीपीसी के सेवानिवृत्त बीके सिन्हा ने बताया कि वह उनके बड़े बेटे के साथ ही पला बढ़ा था। दोनों एलकॉन स्कूल में पढ़े थे। करीब सात साल  पहले भव्य ने नौकरी शुरू की थी। आसपास के लोग उसे प्यार से पायलट साहब बुलाते थे। भव्य लेकिन हर दिवाली में वह घर जरूर आता था। वह बहुत मिलनसार स्वभाव का था। एक अन्य पड़ोसी ने बताया कि भव्य इकलौता बेटा था। उसकी एक बहन है, जिसका नाम रूहानी है। एक वर्ष पहले ही भव्य की शादी हुई थी। भव्य के पड़ोसियों को विश्वास ही नहीं हो रहा है कि उसके साथ ऐसी दुर्घटना हो गई है। पड़ोसी अब भी आधिकारिक पुष्टि का इंतजार कर रहे हैं। पड़ोसियों को किसी चमत्कार की उम्मीद है। भव्य के साथ हुई दर्घटना से पड़ोसी काफी दुखी हैं। इंडोनेशिया जा रहा है पूरा परिवार भव्य सुनेजा के एक पड़ोसी ने उनके पिता गुलशन सुनेजा से मुलाकात में हुई बातचीत के आधार पर बताया कि उनका पूरा परिवार आज इंडोनेशिया के लिए रवाना हो रहा है। हालांकि उन्होंने बताया कि भव्य के परिवार को अब तक इंडोनिशिया या वहां के भारतीय दूतावास से कोई संपर्क नहीं किया गया है। क्रैश हुए इंडोनेशिया के लॉयन एयर बोइंग 737 विमान को दिल्ली के मयूर विहार के 31 वर्षीय कैप्टन भव्य सुनेजा उड़ा रहे थे। भव्य सुनेजा ऐल्कॉन पब्लिक स्कूल से पढ़े थे और 2009 में ही उन्होंने पायलट का लाइसेंस हासिल किया था। इसके बाद वह अमिरात में ट्रेनी रहे। उन्होंने 7 साल पहले साल 2011 में लॉयन एयर को जॉइन किया था। भव्य के बारे में बताते हुए एक एयरलाइन कंपनी के एक सीनियर अधिकारी ने कहा उनके पास बोइंग-737 उड़ाने का अच्छा अनुभव था और इतने सालों में कोई हादसा नहीं हुआ था।