लेबनान के आतंकी संगठन हिजबुल्ला पर डोनाल्ड ट्रंप ने लगाए नए प्रतिबंध

वाशिंगटन। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने लेबनानी आतंकी संगठन हिजबुल्ला पर नए प्रतिबंध लगाए हैं। ये प्रतिबंध उसे अंतरराष्ट्रीय वित्तीय पाने से रोकने के लिए लगाए गए हैं। ईरान समर्थित इस संगठन पर पूर्व में लगी सभी आर्थिक बंदिशों को भी बरकरार रखा गया है। ट्रंप ने बेरुत की बैरकों पर 1980 में हिजबुल्ला के हमले की 05 बरसी के मौके पर हिजबुल्ला अंतरराष्ट्रीय वित्तीय रोकथाम संशोधन अधिनियम (एचआइपीएए) 2018 पर हस्ताक्षर किए। इस हमले में अमेरिका के 241 और फ्रांस के 58 सैनिकों की मौत हो गई थी। ट्रंप ने कहा, %हिजबुल्ला ने हमले किए थे। ईरान अपने कट्टरपंथी एजेंडे को आगे बढ़ाने के लिए उसको वित्तीय मदद करता था। वह आज भी उसे संरक्षण देता है। ह्वाइट हाउस की प्रवक्ता सारा सैंडर्स के अनुसार, इस कानून से हिजबल्ला अंतरराष्ट्रीय वित्तीय प्रणाली में और अलग-थलग पड़ जाएगा और उसकी वित्तीय मदद में कमी आएगी।% अमेरिका ने हिजबुल्ला को आतंकी संगठन घोषित कर रखा है। इस कानून के तहत उन लोगों पर भी प्रतिबंध लगाया जा सकता है जो हिजबुल्ला के साथ कारोबार कर रहे हैं। राष्ट्रपति ट्रंप ने गुरुवार को कहा कि ईरान के खिलाफ पांच नवंबर से सभी अमेरिकी प्रतिबंध फिर से प्रभावी हो जाएंगे। उन्होंने गत मई में ईरान के साथ हुए ऐतिहासिक परमाणु समझौते से अमेरिका के हटने का एलान किया था। इसके बाद अगस्त में ईरान के खिलाफ कई प्रतिबंध लगा दिए थे। ईरान ने साल 2015 में अमेरिका समेत दुनिया के छह शक्तिशाली देशों के साथ परमाणु समझौता किया था। हिजबुल्ला पर प्रतिबंध लगाने वाले कानून पर हस्ताक्षर के मौके पर ट्रंप ने ईरान को घातक हथियार बनाने से रोकने का वादा भी किया।