नगर निगम बोर्ड की बैठक में पास हुए सभी प्रस्ताव

गाजियाबाद। स्थानीय नगर निगम सदन की बैठक के दौरान नगर आयुक्त चंद्र प्रकाश सिंह ने एलान किया कि भ्रष्टाचार रोकने को हर संभव कदम उठाए जाएंगे। इसके अलावा, उन्होंने कहा कि कविनगर औधोगिक क्षेत्र की टैक्स वसूली की व्यवस्था विजय नगर जोन में करने के प्रस्ताव को लेकर खासा विरोध होने के चलते अंतिम क्षणों में इस कदम को वापस ले लिया गया है। दरअसल, आज की बैठक की खास बात यह रही कि बीजेपी के वरिष्ठ पार्षद राजेंद्र त्यागी ने सदन के समक्ष प्रस्तुत एजेंडे पर ही सवाल खड़ा कर दिया। मसलन, 5 बार पार्षद रहे श्री त्यागी का कहना था कि एजड में ऐसा कुछ भी नहीं है कि जिन पर चची का जा सके। इसलिए केवल नीतिगत प्रस्ताव ही सदन के समक्ष रखे जाने चाहिए। क्योकि ये समय का बखादा है। उधर, बैठक में मेयर कप कायालय के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी गई। यह प्रस्ताव स्थापना निधि से पूरा किया जाएगा। सदन की बैठक के दौरान सुदामा पुरा में बारातघर, पार्क, पुलिस चौकी की जमीनों पर भी इमारतें खड़ी किए जाने के मुददे पर भी अधिकारियों को घेरा गया। मेयर आशा शर्मा की अध्यक्षता में हुई इस बैठक के दौरान कांग्रेस से पार्षद अजय शर्मा ने सवाल खड़े करते हुए कहा कि जिस वक्त उक्त कालोनी निगम के द्वारा काटी गई थीं तब 778 भूखंड आवंटित किए गए थे, लेकिन अब ये 1200 भखंड कैसे हो गए। बैठक के दौरान अधिकांश प्रस्तावों को मंजूरी दे दी गई। कविनगर औधोगिक एरिया की टैक्स वसली विजय नगर जोन में किए जाने के प्रस्ताव का बीजेपी के वरिष्ठ पार्षद राजेंद्र त्यागी ने विरोध किया। हालांकि मेयर आशा शर्मा का तर्क था कि कविनगर औधोगिक क्षेत्र की टैक्स वसूली विजय नगर जोन में करने से क्षेत्र का समुचित विकास हो सकेगा। हिंडन नदी पुल पर वर्टिकल गार्डन पर 60 लाख रूपए के खर्च पर भी सवाल इस बोर्ड बैठक में खड़े किए गए। बैठक के अंत में महापौर आशा शर्मा ने शहर के 100 वार्डो को दिवाली का तोहफा देते हुए प्रति वार्ड 10-10 लाख रुपये का कार्य अतिरिक्त रूप से कराए जाने का |ऐलान किया। जबकि पूर्व बैठक में 50-50 लाख रुपए का कार्य कराने का प्रस्ताव पूर्व बैठक में पास किया जा चुका है। इसलिए इस नया ऐलान के बाद महानगर के हर वार्ड में 60 लाख के विकास कार्य कराए जाएंगे। अगर नगर निगम ने महानगर में सभी वार्डों में यह कार्य करा दिए तो महानगर के विकास की फिजा आने वाले समय में कुछ और होगी।