पटाखा व्यापारियों ने विदेश राज्यमंत्री वी के सिंह से मुलाकात की

गाजियाबाद। स्थानीय पटाखा व्यापारियों ने रविवार को क्षेत्रीय सांसद सह विदेश राज्यमंत्री वी के सिंह से मलाकात की और एक ज्ञापन अपना व्यापारिक समस्याओं और उनसे जुड़ी दुविधाओं से अवगत करवाया। जनपद के आप इन अप्रत्याशित समस्याओं का निदान करें ताकि हमलोगों के व्यापारिक हितों की रक्षा हो सके और दीपावली के मौके पर गाजियाबाद में पटाखों की बिक्री हेतु अस्थाई कुंभ को लेकर नाटय स्थानीय प्रशासन शीघ्र ही दे दे। एकजुट व्यापारियों ने सांसद सह राज्यमंत्री श्री सिंह को बताया कि इस वर्ष सुप्रीम कोर्ट द्वारा 23 अक्टूबर को एक आदेश पारित किया गया है जिसमें पटाखों की पुनः बिक्री करने हेतू स्थानीय प्रशासन व पुलिस अधिकारियों को अस्थाई लाइसेंस देने के संबंध में दिशा निर्देशित भी किया र्देशित भी किया इस बाबत सुप्रीम काट कस शन सिविल नंबर 728 वर्ष 2015) में दिए गए स्पष्ट ऑर्डर (गत 23 अक्टूबर को) में उल्लिखित है कि 50 प्रतिशत अस्थाई लाइसेंस दुकानदारों को दिये जाएंगे ताकि उनके पुराने पटाखे खप जाएं। और वर्ष 2015) में दिए गए स्पष्ट व्यापारियों ने उन्हें आगे बताया कि कोर्ट ने जिस ग्रीन पटाखे का जिक्र अपने आदेश में किया है, उसके मानक न तो भारत में और न ही शेष दुनिया में स्पष्ट हैं, जिससे प्रशासनिक अधिकारियों का असमंजस बढ़ गया  है और वे स्पष्ट शासनादेश मिलने की प्रतीक्षा कर रहे हैं। दूसरी तरफ, व्यवसायी असमंजस में हैं, क्योंकि दीवाली का त्यौहार अब कुछ ही दिन शेष है। इसलिए व्यापारियों ने सांसद से गुहार लगाई है कि स्थानीय प्रशासन विशेषकर जिलाधिकारी से बात करके उन्हें अस्थाई लाइसेंस जारी करवाने की प्रक्रिया शीघ्र पूरी करवाएं, अन्यथा व्यापारिक क्षति सम्भव है। इस मौके पर कवि नगर रामलीला ग्राउंड के पटाखा व्यापारी, घंटाघर रामलीला ग्राउंड के पटाखा व्यापारी, रामलीला ग्राउंड के पटाखा व्यापारी, वैशाली-राजेंद्रनगर-साहिबाबाद के पटाखा व्यापारी और पटाखा फुटकर विक्रेता संघ से जड़े आशतोष, विपिन रोबिन तरुण, अनिल मनोज, अमित, संजीव, विजय, चंद्र, महेंद्र, राजीव, हरीश, राजीव, प्रदीप और विष्णु आदि उपस्थित थे।