पीएम पैकेज की उच्चस्तरीय समीक्षा में निर्णय, दानापुर-बिहटा एलिवेटेड रोड के निर्माण का रास्ता साफ

पटना । दानापुर स्टेशन से बिटा तक फोरलेन एलिवेटेड रोड के निर्माण का रास्ता साफ हो गया है. यह एलिवेटेड रोड वर्तमान जिला सड़क पर बनेगा. एलिवेटेड रोड के निर्माण में जमीन अधिग्रहण में होनेवाला खर्च राज्य सरकार देगी, जबकि एलिवेटेड रोड निर्माण का खर्च केंद्र सरकार वहन करेगी. अब तक इसके खर्च को लेकर ही मामला फंसा हुआ था. इसके साथ ही पटना रिंग रोड के निर्माण पर भी किशोर सहमति बनी. दानापुर-बिटा एलिवेटेड रोड व रिंग रोड का निर्माण एनएचएआई करेगा. महात्मा गांधी सेतु के समानांतर नये पुल का टेंडर  जल्द होगा. प्रधानमंत्री के विशेष पैकेज की उच्चस्तरीय समीक्षा प्रधानमंत्री कार्यालय में प्रधानमंत्री के प्रधान सचिव नृपेंद्र मिश्रा की अध्यक्षता में हुई. इसमें बिहार से उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी, पथ निर्माण मंत्री नंद किशोर यादव, मुख्य सचिव दीपक कुमार, पथ निर्माण विभाग के प्रधान सचिव अमृतलाल मीणा ने भाग लिया. उच्चस्तरीय बैठक में योजनाओं की प्रगति और समस्याओं के निराकरण पर चर्चा की गयी. इसके पहले बिहार की विकास योजनाओं की प्रगति को लेकर मुख्यमंत्री की प्रगति को लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने दिल्ली स्थित बिहार की प्रगति और समस्याओं के भवन में मंत्रियों और अधिकारियों के साथ उच्चस्तरीय बैठक की. इस बैठक में पीएम पैकेज के तहत विभिन्न योजनाओं की मौजूदा स्थिति को लेकर चर्चा की गयी. बाधाओं को दूर करने को कहा मुख्यमंत्री ने ने बिहार भवन में बैठक के दौरान बिहार में केंद्रीय योजनाओं की समीक्षा की और इसमें आ रही बाधाओं को दूर करने  को कहा. पटना-बिहटा  एलिवेटेड  विकास योजनाओं व  बिहार में केंद्रीय सड़क सहित अन्य योजनाओं के सफल और ससमय क्रियान्वयन के लिए जरूरी निर्देश दिये. साथ ही भूमि अधिग्रहण के कारण योजनाओं में हो रही देरी के लिए तत्काल कदम उठाने को कहा. इस बैठक में उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी, पथ निर्माण मंत्री नंदकिशोर यादव, जल संसाधन मंत्री राजीव रंजन सिंह मुख्य सचिव दीपक कुमार,पथ निर्माण के प्रधान सचिव अमृत लाल मीणा, स्थानिक आयुक्त विपिन कुमार मौजूद थे. दोपहर में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली से मिले. जदयू के प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह ने कहा कि भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और मुख्यमंत्री ने सीट बंटवारे की घोषणा कर दी है. लोजपा नेता चिराग पासवान ने इस समझौते को लेकर सकारात्मक बयान दिया है. वहीं रालोसपा नेता उपेंद्र कुशवाहा ने भी एनडीए में बने रहने की बात कही है. एनडीए घटक दलों में सीटों को लेकर कोई विवाद नहीं है. उन्होंने कहा कि अगले हफ्ते कौन दल किस सीट से और कितनी सीटें लड़ेगा, इसकी घोषणा कर दी। जायेगी।