राम मंदिर मद्दे को अब और नहीं लटकाए केंद्र सरकार

 गाजियाबाद।  शिवसेना ने राम मंदिर के मुद्दे पर केंद्र सरकार का ध्यान आकर्षित करते हुए कहा है कि नरेंद्र मोदी सरकार के द्वारा इसे और भी टाला जाना उचित नहीं है। लिहाजा, सरकार को इस मामले में उचित निर्णय लेकर मंदिर बनाने का मार्ग शीघ्र प्रशस्त करना चाहिए। बुद्धवार को पत्रकारों से बातचीत करते हुए विश्व हिंदू परिषद के पूर्व प्रांत अध्यक्ष डॉक्टर हरपाल सिंह ने कहा कि हिंदुओं के घर की परीक्षा ली जा रही है। पिछले 26 वर्षों से आज तक श्रीराम तंबू में निवास कर रहे हैं। राम जन्मभूमि व राम मंदिर के ऐतिहासिक प्रमाण सुप्रीम कोर्ट को दिए जा चुके हैं। इस तथ्य को कोई भी नहीं निगल सकता कि वह मंदिर नहीं था। यह बात पूरी तरह से प्रमाणित भी हो चुका है कि मंदिर तोड़कर वहां पर मस्जिद का निर्माण कराया गया। इसके बावजूद, केंद्र सरकार इस मामले में उचित निर्णय नहीं लेकर जन भावनाओं के साथ खिलवाड़ कर रही है। जय शिव सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमितआर्य ने कहा कि इस स्थान पर केवल मंदिर का ही निर्माण होना चाहिए, क्योंकि इसके पहले वहां मंदिर स्थित था। कुछ राजनीतिक लाभ के लिए विभिन्न राजनीतिक दल इसका हथियार की तरह इस्तेमाल कर रहे हैं जो उचित नहीं है। इस मामले का निस्तारण केंद्र सरकार को चुनाव से पहले कर लेना चाहिए। प्रेस वार्ता में राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रियंका भारद्वाज, मीडिया प्रभारी ज्योति शर्मा, विनोद त्यागी, रुचि लहरा, दुर्गा प्रसाद, सरेंद्र सिंह राणा एवं आर एम गर्ग उपस्थित थे।