रैपिड ट्रेन व चौथे चरण की मेट्रो में केजरीवाल फेल, केंद्र सरकार ले सकती है ये बड़ा निर्णय

मेट्रो के चौथे चरण के काम को मंजूरी नहीं मिलने को भाजपा मुद्दा बनाने की तैयारी में है। इसे लेकर वह दिल्ली सरकार को कठघरे में खड़ा करेगी। दिल्ली प्रदेश भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी का कहना है कि अरविंद केजरीवाल सरकार दिल्ली के विकास को बाधित कर रही है। वहीं, नेता प्रतिपक्ष विजेंद्र गुप्ता ने केंद्र से मेट्रो के चौथे चरण और दिल्ली मेरठ रैपिड ट्रांजिट सिस्टम के काम को अपने हाथ में लेने की मांग की है। भाजपा नेताओं का कहना है कि दिल्ली सरकार मेट्रो के चौथे चरण की स्वीकृति की फाइल को पिछले चार वर्षों से अपने पास रखे हुए है। इसी तरह से दो वर्षों से ज्यादा समय से मेट्रो कोच खरीदने की फाइल और रैपिड रेल की फाइल भी सरकार के पास पड़ी हुई है। मनोज तिवारी का कहना है कि मेट्रो के चौथे चरण के काम को मंजरी नहीं देकर केजरीवाल सरकार दिल्ली के विकास को बाधित कर रही है। मेट्रो के तीसरे चरण का काम पूरा होने वाला है। इसके बाद मेटो निर्माण से जुड़ी हुई सारी मशीनें भी हटा ली जाएंगी। चौथे चरण के काम में इन्हें फिर स्थापित करने में न सिर्फ समय लगेगा बल्कि निर्माण कार्य की लागत भी बढ़ेगी। समचार एजेंसी पीटीआइ के अनुसार मनोज तिवारी ने कहा कि अगर केजरीवाल चौथे चरण के मेट्रो निर्माण की फाइल को मंजूरी प्रदान कर देते हैं। तो वह आम आदमी पार्टी को 1,111 रुपये दान करेंगे। नेता प्रतिपक्ष विजेन्द्र गुप्ता ने कहा कि भाजपा केजरीवाल सरकार की विकास विरोधी नीतियों का मंहतोड़ जवाब देगी। वह जल्द ही केंद्रीय शहरी विकास राज्य मंत्री हरदीप सिंह पुरी से मिलकर मेट्रो के चौथे चरण और रैपिड रेल का काम सीधे अपने हाथ में लेने की अपील करेंगे ताकि दिल्ली के विकास में तेजी आ सके।