सिहानी गेट पुलिस ने किया खुलासा, 2 हत्यारे गिरफ्तार

 अज्ञात युवती हत्याकांड


गाजियाबाद। स्थानीय सिहानी गेट पुलिस ने गत 26 सितम्बर को एक 21 वर्षीय अज्ञात युवती से सामूहिक दुष्कर्म किये जाने और फिर ब्लेड मारकर तथा पैर से गला दबाकर बेरहमी पर्वक उसकी हत्या कर दिए जाने और उसके बाद तेजाब डालकर झुलसा देने वाले अनसुलझे मामले का खुलासा कर दिया है। खबर है कि रविवार को पुलिस ने नया गाजियाबाद रेलवे स्टेशन के समीप से दो ऐसे अपराधियों को गिरफ्तार किया है, जिन्होंने पुलिसिया दबाव पड़ते ही उस पूरी घटना की परिस्थतियों का जिक्र करते हुए अपना गुनाह कबूल लिया है। इस बाबत पुलिस का कहना है कि इस सामूहिक दुष्कर्म और हत्याकांड में तीन युवक शामिल थे, जिनमें से दो पुलिस की गिरफ्त में आ चुके हैं, जबकि तीसरा फरार बताया जाता है। बता दें कि उक्त दिन सिहानी गेट थाना क्षेत्र में एक अज्ञात लड़की का शव मिला था, जिसके उपर ज्वलनशील पदार्थ डालकर बेरहमी से हत्या की गई थी। तब पुलिस ने इस घटना के सम्बन्ध में थाना हाजा पर मुअसं 1917/18 धारा 302 व 201 भादवि दर्ज करके इस मामले के अनावरण की दिशा में गम्भीरतापूर्वक जुट गई और एक माह एक सप्ताह बाद ही रविवार को उक्त हत्या की घटना का खुलासा करते हुए हत्यारे अभियुक्त भिन्डी पुत्र राजपाल नि घूकना मोड और हनी उर्फ अजय पुत्र चन्द्रपाल नि अच्छेजा थाना कोतवाली हापुड को नया रेलवे स्टेशन के पास से गिरफ्तार कर लिया। पुलिस के मुताबिक, गिरफ्तार अभियुक्त विनय उर्फ भिन्डी व हनी ने पूछताछ करने पर बताया कि उन दोनों व दीपक जो कि फरार है. को नया गाजियाबाद रेलवे स्टेशन पर एक लड़की मिली थी, जिसको उन तीनों ने जब अपने साथ चलने के लिए कहा तो उसने मना कर दिया। उसने आक्षेप लगाया कि तुम लोग मुझे पैसा नहीं देते हो. इसलिए मैं तम्हारे साथ नहीं जाऊंगी और झगड़ा करने लगी। उसके बाद इनलोगों ने उसको शराब पिलायी और लगभग ग्यारह बजे विनय के टैम्पू से अपने साथ ले गये। उसके बाद, रास्ते में विनय व दीपक ने उसके साथ जबरदस्ती व बलात्कार किया। उसके बाद विनय उर्फ भिन्डी ने ब्लेड से उसके ऊपर वार किया और बेब सिटी सोसाइटी के पास ले जाकर रोड के किनारे विनय ने उसके गले पर पैर रखकर दबा दिया। फिर उसके शरीर पर दीपक (फरार अभियुक्त) ने तेजाब डाला। अजय उर्फ हनी ने उसके साथ बलात्कार नहीं किया। लेकिन इन तीनों ने मिलकर हत्या की। बता दें कि विनय उर्फ भिन्डी शातिर किस्म का अपराधी है, जबकि अभियुक्त दीपक फरार चल रहा है।