दिल्ली में इलेक्ट्रिक बसों का ट्रायल आज से, सफल हुआ तो उठाया जाएगा ये बड़ा कदम

नई दिल्ली। प्रदूषण पर कोहराम के बीच दिल्ली में शुक्रवार को इलेक्ट्रिक बस का ट्रायल शुरू हो गया। सुबह करीब 11.30 बजे दिल्ली के परिवहन मंत्री कैलाश : गहलोत ने सचिवालय से इलेक्ट्रिक बस को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। यह बस प्रतिदिन अंबेडकर नगर टर्मिनल से इंद्रपुरी (कृषि कुंज) के बीच रूट नंबर 522 पर चला करेगी। बताया जा रहा है कि अगले सप्ताह से एक और इलेक्ट्रिक बस ट्रायल के लिए सड़क उतारी जाएगी। उल्लेखनीय है कि दिल्ली सरकार ने 1000 इलेक्ट्रिक बसें खरीदने की योजना बनाई है। इसके लिए दिल्ली इंटीग्रेटेड मल्टी मॉडल ट्राजिट सिस्टम (डिम्टस) को बसों की तकनीकी असेसमेंट, लागत व टेंडर प्रक्रिया का अध्ययन करने की जिम्मेदारी दी गई है। लो फ्लोर एसी इलेक्ट्रिक बसों का ट्रायल दो महीने तक चलने की सीट है। ये बसें करीब 12 मीटर लंबी होंगी। ट्रयल की विस्तृत रिपोर्ट के आधार पर नहीं यूपी-हरियाणा इलेक्ट्रिक बसों को लाने की आगे की प्रक्रिया शुरू होगी। अभी बसों की खरीद का वित्तीय मॉडल तय नहीं हुआ है। प्रदूषण के मद्देनजर उम्मीद है कि अगले साल से चरणबद्ध तरीके से इलेक्ट्रिक बसें खरीदी जाएंगी। इसे राजधानी में प्रदषण कम करने के लिए अहम कदम माना जा रहा है। योजना के अनसार बड़ी इलेक्ट्रिक बसों के अलावा छोटी बसें भी चलाई जाएंगी। छोटी इलेक्ट्रिक बसे कम चौड़ी सड़कों व भीड़ वाले इलाकों में चलाई जाएंगी। इन बसों के लिए चार्जिग स्टेशन भी बनाए जाएंगे। ग्रीसीटीवी व जीपीएस से जल्ट लैस होंगी डीटीसी व कलस्टर बसें राजधानी की सड़कों पर रफ्तार । हरियाणा समेत भरने वाली सभी डीटीसी व कलस्टर बसे जल्द जापाएस व सीसीटीवी कैमरे से लैस होगी। परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने ट्वीट कर यह जानकारी दी है कि बसों में सीसीटीवी, पैनिक बटन व जीपीएस लगाने के लिए बृहस्पतिवार को टेंडर जारी कर दिया गया। इससे बसों में सफर के दौरान यात्रियों की सुरक्षा सुनिश्चित होगी।