आतंक के शिकार 100 बच्चों को गोपालधाम में दी जाएगी शिक्षा, राज्यपाल ने किया शिलान्यास

नई दिल्ली। गोपालधाम ऐसी जगह है जहां आपको आकर अच्छा लगेगा। इस जगह की खासियत यह जानकर आपमें भी समाज के प्रति कुछ करने की भावना जाग जाएगी। आइए जानते हैं यहां की खासियत। यहां सेवा भारती की ओर से देशभर के 100 ऐसे बच्चों को शिक्षा दीक्षा दी जाएगी जो आर्थिक, सामाजिक रूप से कमजोर होंगे। इसके साथ ही आतंकवाद या प्राकृतिक आपदा जैसी त्रासदी के शिकार बच्चों को कक्षा 1 से 5 तक निशुल्क शिक्षा भी दी जाएगी। इन बच्चों को आगे की शिक्षा के लिए दिल्ली के सेवा धाम में भेजा जाएगा। राज्यपाल राम नाईक ने बृहस्पतिवार को साहिबाबाद के कोयल इन्क्लेव में स्थित गोपाल धाम भूमि पूजन कार्यक्रम के दौरान मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि बुलंदशहर में हुई घटना और उसने पुलिस अफसर की मौत होना प्रदेश के लिए शर्मसार करने वाली स्थिति है। उन्होंने कहा कि बीते कुछ समय में उत्तर प्रदेश में संगठित अपराध में कमी आई है, लेकिन अन्य अपराधों में भी पुलिस को शक्ति से अंकुश लगाने की आवश्यकता है। हाल ही में आए पांच राज्यों के चुनाव परिणाम पर उन्होंने राजनीतिक टिप्पणी करने से मना कर दिया। राज्यपाल ने कहा की गोपाल धाम जैसे शिक्षा के केंद्र खुलने से विशेष बच्चों को सफलता के शिखर मिलने की उम्मीद जाहिर की है। दूसरे राज्यों के बच्चों को भी मिलेगी शिक्षा सेवा धाम से जुड़ी अधिकारी अंजू पांडे ने बताया है कि संस्था को भी 16 बच्चे मिल चुके हैं और अन्य बच्चे भी जल्द तलाश की जा रही है। इसमें मिजोरम, पश्चिम बंगाल, उत्तर प्रदेश और जम्मू जम्मू कश्मीर के अलावा कई अन्य राज्य के छात्र छात्राओं को शामिल किया जाएगा। लाइब्रेरी और संगीत की है सुविधा। यहां इन बच्चों के लिए लाइब्रेरी, संगीत और अलग से पठन-पाठन का स्थान भी रहेगा। गोपालधाम का निर्माण 2020 तक हो जाएगा और इसको बनाने में लगभग बीस करोड़ रुपये खर्च होंगे। इसको बनाने के लिए 3419 वर्ग मीटर भूखंड सेवा भारती भोपाल धाम को दिया गया है। इसे तीन मंजिला बनाया जाएगा। राज्यपाल ने किया शिलान्यास सेवा भारती गोपालधाम के नवीन भवन का शिलान्यास के दौरान जूनापीठाधीश्वर अवधेशानंद महाराज भी उपस्थित रहे।