निरीक्षण में मिल रही खामियां, सीडीओ ने अधीनस्थ अधिकारियों को हड़काया



गाजियाबाद। मुख्य विकास अधिकारी रमेश रंजन ने अधिकारियों को स्पष्ट निर्देश दिया कि विकास कार्य शीघ्र पूर्ण कराएं जाए। उन्होंने दो टूक कहा कि निरीक्षण में खामियां मिल रही हैं, इसलिए खामी दूर नहीं की गई तो संबंधित विभाग के अधिकारी के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। स्थानीय कलेक्ट्रेट सभागार में सीडीओ रमेश रंजन ने मुख्यमंत्री के 82 विकास कार्यों की एक एक कर समीक्षा की और किसी भी प्रकार की लापरवाही नहीं बरतने की बात कही।मुख्य विकास अधिकारी को सीएमओ डा.एनके गुप्ता ने अवगत कराया कि 10निरीक्षण किए गए, जिनमें अनुपस्थित मिलने वाले 10 डॉक्टरों का एक दिन का वेतन काटा गया। उन्होंने आगे बताया कि  जिले में 89 प्रतिशत पूर्ण टीकाकरण किया गया। उन्हें सीडीओ रंजन ने स्पष्ट निर्देश दिए कि एंबुलेंसको तत्काल ठीक कराएं। इससे पूर्व सीडीओ रमेश रंजन ने कूड़ा-कचरा प्रबंधन सेंटर को लेकर मुरादनगर ब्लॉक के गांव खिमरावती समेत कई गांवों में भौतिक निरीक्षण किया। इसके बाद ब्लॉक में बैठक करते हुए अधिकारियों को निर्देश दिए कि 15 दिसंबर तक कार्य किसी भी हालत में पूरा कर लें, अन्यथा कड़ी कार्रवाई की जाएगी।सीडीओ रंजन ने नगर निगम के अपर नगर आयुक्त आरएन पांडेय, सीएमओ डा.एनके गुप्ता, जिला अर्थ एवं संख्याधिकारी प्रमोद कुमार, वनाधिकारी दीक्षा पांडेय, जिला पंचायती राज अधिकारी रेनू श्रीवास्तव, जिला कार्यक्रम अधिकारी शशि वार्ष्णेय, जिला प्रोबेशन अधिकारी विकास चंद्रा, पीडब्ल्यूडी अधिशासी अभियंता मनीष वर्मा, जलकल अभियंता आनंद त्रिपाठी, एआरटीओ विश्वजीत सिंह आदि की मौजूदगी में कहा कि अपने अपने कार्य शीघ्रतापूर्वक पूर्ण कराएं।
इस मौके पर जिला पंचायत राज अधिकारी रेनू ने अवगत कराया कि 14वें वित्तआयोग की 94.28 फीसद धनराशि खर्च की जा चुकी है। सामूहिक विवाह योजना में जिले मेंं 64 विवाह कराए जा चुके हैं। इस पर सीडीओ ने फटकार लगाते हुए अपर नगरायुक्त को निर्देश दिए कि लक्ष्य के सापेक्ष विवाह क्यों नहीं कराए गए। नगर पंचायत पतला द्वारा एलईडी लाइट न लगाए जाने पर अधिशासी अधिकारी का वेतन रोकने के निर्देश दिए। इसके अलावा, प्रोजेक्ट मैनेजर यूनिट-31, 28 का स्पष्टीकरण देने के भी निर्देश दिए।इस अवसर पर सेतु निगम के प्रोजेक्ट प्रबंधक ने अवगत कराया कि 17 नवंबर से निमार्णाधीन फ्लाईओवर का कार्य एनजीटी द्वारा रोक लगाने से बाधित हुआ जिसके बाद अब फिर से कार्य शुरू कर दिया गया है। जबकि लोनी के मंडोला में जमीन अधिग्रहण नहीं हुई है। सीडीओ ने सीवरेज सर्वेक्षण का कार्य महज 2 दिन में पूरा करने के निर्देश दिए।
इधर, सीडीओ ने बीएसए प्रतिनिधि से पूछा कि बच्चों को यूनिफॉर्म वितरण में जूतों की समस्या आ रही है, ऐसा क्यों? उधर, गन्ना किसानों का बकाया 150 करोड़ रुपए का भुगतान कर दिया गया। जिला कृषि अधिकारी ने अवगत कराया कि पारदर्शी किसान योजना में किसानों के पंजीकरण पूर्ण कराए गए। किसानों के ऋणमोचन में 412 शिकायतों का निस्तारण किया गया।डूडा परियोजना अधिकारी पवन शर्मा ने अवगत कराया कि गाजियाबाद में 13,808 लाभार्थी की योजना भवनों की स्वीकृत हो गई हैं। 2000 भवनों में 1430 भवनों पर निर्माण कार्य चल रहा हैं। 632 भवन पूरे हो गए हैं। इस पर सीडीओ ने कहा कि लंबित कार्यों पर अधिक ध्यान दें।