परिवार संपर्क अभियान में डेढ़ दिन हर पंचायत में बितायेंगे भाजपा कार्यकर्ता

पटना । नरेंद्र मोदी को 2019 में फिर से प्रधानमंत्री बनाने के लिए भाजपा 16 दिसंबर से परिवार संपर्क अभियान शुरू करेगी. 31 दिसंबर तक यह अभियान चलेगा. इस दौरान भाजपाई एक-एक परिवार से संपर्क करेंगे और मोदी सरकार की उपलब्धियों को बताते हुए 2019 में फिर से प्रधानमंत्री बनाने की अपील करेंगे. अभियान के दौरान भाजपाई डेढ़ दिन एक पंचायत में गुजारेंगे. परिवार संपर्क अभियान को सफल बनाने के लिए प्रदेश भाजपा मुख्यालय में प्रदेश अध्यक्ष नित्यानंद राय की अध्यक्षता में बैठक हुई. इसमें प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि राज्य की सभी 40 लोकसभा सीटों पर एनडीए की जीत और नरेंद्र मोदी को फिर से प्रधानमंत्री बनाने के लक्ष्य को लेकर परिवार संपर्क अभियान को सफल बनाना है. बैठक में तय हुआ कि हर विधानसभा क्षेत्र में पांच टोली बनेगी. हर टोली में 25- 25 प्रमुख लोग रहेंगे. एक-एक परिवार के पास यह टोली जायेगी और मोदी सरकार की उपलब्धियों वाला एक बुकलेट उन्हें देते हुए 2019 में दोबारा नरेंद्र मोदी को पीएम बनाने की अपली की जायेगी. अनुमान लगाया गया कि एक टोली को करीब डेढ़ दिन एक पंचायत का भ्रमण करने में लगेगी. सांसद-विधायक से लेकर प्रमुख नेता तक इस टोली में रहेंगे. टोली में आईटी के जानकार भी रहेंगे. जो हर परिवार में नमो एप डाउनलोड करायेंगे और मिस्ड कॉल से भाजपा के नये सदस्य बनायेंगे. बैठक में कुछ लोगों ने कार्यकर्ताओं की उपेक्षा पर भी सवाल उठाया. साथ ही पटना विवि के चुनाव में विद्यार्थी परिषद की हार पर भी सवाल खड़ा किया. सवाल उठाने वाले नेताओं का कहना था था कि बड़े नेता पूरी तरह चुप्पी साधे रहे. इसको लेकर कार्यकर्ताओं में भ्रम की स्थिति रही. इस पर कहा गया कि अध्यक्ष पद को छोड़ अन्य पदों पर विद्यार्थी परिषद की जीत हुई है. बैठक में सभी मोर्चा के कार्यक्रम और 30 दिसंबर को मन की बात कार्यक्रम को लेकर चर्चा हुई. अगले महीने से बड़े नेताओं का दौरा शुरू हो जायेगा. बैठक में उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी, संगठन महामंत्री नागेंद्र जी, पथ निर्माण मंत्री नंदकिशोर यादव, स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय, सहकारिता मंत्री राणा रणधीर सिंह आदि मौजूद थे।